BIMSTEC full form ; BIMSTEC क्या है ? ( बिम्सटेक )

BIMSTEC full form

  • BIMSTEC full form in english - Bay of Bengal Initiative for Multi Sectoral Technical and Economic Co-Operation
  • BIMSTEC full form - बे ऑफ बंगाल इनिशिएटिव फॉर मल्टी-सेक्टोरल टेक्निकल एंड इकोनॉमिक को-ऑपरेशन
  • मुख्यालय - ढाका (बांग्लादेश )
ये भी पढ़े : What Is SAARC ?

BIMSTEC क्या है ?

  • इसका पूरा नाम बे ऑफ बंगाल इनिशिएटिव फॉर मल्टी-सेक्टोरल टेक्निकल एंड इकोनॉमिक को-ऑपरेशन है
  • इसका मुख्यालय - ढाका (बांग्लादेश )
  • इस की स्थापना बैंकॉक घोषणा के साथ 6 जून 1997 को हुई
  • यह एक क्षेत्रीय सगठन है जिसमे बंगाल की खाड़ी के तटवर्ती एवं आसपास के 7 देश इसके सदस्य है 
  • 5 दक्षिण एशिया ( बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल और श्रीलंका ) व 2  दक्षिण-पूर्व एशिया ( म्याँमार और थाईलैंड ) के देश है 
  • बंगाल की खाड़ी में बहुक्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिए पहल है
  • नेपाल तथा भूटान के शामिल होने के बाद इसका नाम बिम्सटेक पड़ा
  • यह क्षेत्रीय समूह दक्षिण एवं दक्षिण पूर्व एशिया के मध्य एक सेतु का कार्य करता है
  • बिम्सटेक न केवल दक्षिण और दक्षिण पूर्व-एशिया के बीच संपर्क स्थापित करता है यदपि यह हिमालय तथा बंगाल की खाड़ी की पारिस्थितिकी को भी एक साथ जोड़ता है।

BIMSTEC के सदस्य राष्ट्र 

                                          1- नेपाल
                                          2 - भूटान
                                          3 - भारत
                                          4 - श्रीलंका
                                          5 - बांग्लादेश
                                          6 - थाईलैंड
                                          7 - म्यांमार 

सहयोग के क्षेत्र 

  •                      - व्यापर एवं निवेश
  •                      - परिवहन एवं संचार
  •                      - ऊर्जा
  •                      - पर्यटन
  •                      - प्रौद्योगिकी
  •                      - मत्स्य
 8 वें मंत्रीस्तरीय सम्मेलन के बाद 7 नये सहयोग के क्षेत्र शामिल किये गये
  •                      - कृषि
  •                      - जन स्वास्थ्य
  •                      - गरीबी उन्मूलन
  •                      - आतंकवाद और अंतराष्ट्रीय अपराध
  •                      - पर्यावरण एवं प्राकृतिक आपदा प्रबंधन
  •                      - लोगो के मध्ये सम्पर्क
  •                      - सांस्कृतिक सहयोग
14 वें SENIOR OFFICIALS METTING में एक नया सहयोग क्षेत्र शामिल किया गया
  •                       जलवायु परिवर्तन
चौथे बिम्सटेक सम्मेलन में सहयोग के दो नये क्षेत्रो को शामिल किया गया है
  •                       माउंटेन इकॉनमी
  •                       ब्लू इकोनॉमी

बिम्सटेक के सिद्धांत  

  • संप्रभुता 
  • समानता 
  • क्षेत्रीय अखडता 
  • राजनीतिक स्वतंत्रता 
  • आंतरिक मामलो में अहस्तक्षेप 
  • शांतिपूर्ण सहअस्तित्व 
  • आपसी सम्मान

बिम्सटेक का उद्देश्य

  • तीव्र आर्थिक विकास हेतु वातावरण तैयार करना, क्षेत्र में सामान्य हित के मामलों पर सहयोग को बढ़ावा देना और सामाजिक प्रगति में तेज़ी लाना है।
  • सहयोग और समानता की भावना विकसित करना।
  • शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी आदि क्षेत्रों में एक-दूसरे पूर्ण सहयोग करना ।
  • क्षेत्र में तीव्र आर्थिक विकास हेतु वातावरण तैयार करना।
  • सदस्य राष्ट्रों के साझा हितों के क्षेत्रों में सक्रिय सहयोग और पारस्परिक सहायता को बढ़ावा देना।

बिम्सटेक का गठन

  • वर्ष 1997 में बैंकॉक घोषणा के माध्यम से यह उप-क्षेत्रीय संगठन अस्तित्व में आया।
  • शुरुवात में इसका संगठन का गठन चार सदस्य राष्ट्रों के साथ हुआ जिनका संक्षिप्त नाम ‘BIST-EC’ (बांग्लादेश, भारत, श्रीलंका और थाईलैंड आर्थिक सहयोग) था।
  • वर्ष 1997 में म्याँमार के शामिल होने के उपरांत इसका नाम बदल दिया गया व नया नाम ‘BIMST-EC’ कर दिया गया।
  • नेपाल और भूटान के वर्ष 2004 में इसमें शामिल होने के बाद इस संगठन का नाम बदलकर बे ऑफ़ बंगाल इनिशिएटिव फॉर मल्टी सेक्टरल टेक्निकल एंड इकोनॉमिक को-ऑपरेशन कर दिया गया।

बिम्सटेक की क्षमताएँ

  • यह संगठन दक्षिण एवं दक्षिण-पूर्व एशिया के मध्य एक सेतु की भूमिका प्रदान करने का कार्य करता है तथा इस के सदस्य देशों के सुदृढ़ आपसी संबंधों का प्रतिनिधित्व भी करता है।
  • विश्व के कुल व्यापार का एक-चौथाई हिस्सा हर वर्ष बंगाल की खाड़ी से होकर जाता है।
  • सार्क और आसियान के सदस्यों के बीच अंतर-क्षेत्रीय सहयोग हेतु मंच उपलब्ध करता है।
  • इस संगठन के सदस्य देशों की जनसंख्या लगभग 1.5 अरब है जो विश्व की आबादी का लगभग 22% है।
  • वर्ष 2018 के आँकड़ों के अनुसार "3.5 ट्रिलियन GDP की संयुक्त अर्थव्यवस्था के साथ बिम्सटेक देश लास्ट पाँच वर्षों से औसतन 6.5% प्रतिशत विकास दर को बनाए रखा हैं।"

बिम्सटेक के देशो में सहयोग का आधार

  • व्यापार और निवेश
  • जलवायु परिवर्तन
  • प्रौद्योगिकी
  • परिवहन और संचार
  • ऊर्जा
  • मत्स्य पालन
  • पर्यटन
  • पर्यावरण और आपदा प्रबंधन
  • कृषि
  • सांस्कृतिक सहयोग
  • लोगों के बीच आपसी संपर्क
  • सार्वजनिक स्वास्थ्य
  • आतंकवाद और अंतर्राष्ट्रीय अपराधों से निपटना
  • गरीबी उन्मूलन
Previous
Next Post »