cartosat-3 special features

cartosat-3
cartosat-3 

CARTOSAT-3 

  • CARTOSAT-3 का वजन - 1,625 किलोग्राम है
  • CARTOSAT-3 का कार्यकाल 5 वर्ष है
  • CARTOSAT-3 कार्टोसैट श्रृंखला का नौवां उपग्रह है
  • कार्टोसैट-3 तीसरी पीढ़ी का उपकरण है

CARTOSAT-3 की क्षमता

  • इसरो के सतीश धवन स्पेस सेंटर से पीएसएलवी-सी47 को कार्टोसैट-3 व अमेरिका के 13 नैनो सैटलाइट के साथ लॉन्च किया गया। कार्टोसैट-3 तीसरी जनरेशन उपकरण है 
  • कार्टोसैट-3 के कैमरों का स्पेशियल और ग्रांउड रेजॉलूश बहुत ज्यादा है।
  • कार्टोसैट-3 में  विश्व का सबसे उच्च कोटि कैमरा लगा हुआ है। इस कैमरा की मदद से 500 किलोमीटर की ऊंचाई से साफ तस्वीरें ली जा सकती  है 
  • भारत के पास मौजूद सैटलाइट्स में कार्टोसैट-3 सबसे ज्यादा अडवांस्ड स्पेशल रेजॉलूशन रखता  है। इस की ग्राउंड रेजॉलूशन क्षमता अधिक होने के कारण यह जमीन से 1 फीट से भी कम (9.84 इंच) ऊंची वस्तु  को भी पहचान सकता है।
  • रक्षा विशेषज्ञों ने दावा किया है कि इतनी सटीकता वाला सैटेलाइट कैमरा किसी देश के पास नहीं  है अमेरिकी निजी स्पेस कंपनी डिजिटल ग्लोब का जियोआई-1 सैटेलाइट 16.14 इंच की ऊंचाई तक की तस्वीरें ले सकता है
  • कार्टोसैट-3 कार्टोसैट श्रृंखला का नौवां उपग्रह है 

cartosat-3 की भूमिका 

  • भारतीय सेना  के लिए कार्टोसैट बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा । इससे भारतीय सेना की स्पेस-सर्वेलंस की क्षमता बढ़ेगी।
  • पैनक्रोमैटिक मोड में कार्टोसैट-3 16 किमी दूरी की क्षेत्र कवर कर सकता है। इससे पहले वाले  सर्वेलंस सैटलाइट में ऐसी क्षमता नहीं है। 
  • यह  मल्टी-स्पेक्ट्रम  और हाइपर स्पेक्ट्रम को कैप्चर कर सकता है। इसस की वजह से सेना ज़ूम 
  • करके दुश्मन के ठिकानों को खोज सकेगी 
  • आपदा से बचाव में मददगार होगा 
  •  इन्फ्रास्ट्रक्चर प्लानिंग में मददगार होगा 
  • कोस्टल जमीन का इस्तेमाल और नियमन, सड़कों के नेटवर्क को मॉनिटर करने, भौगोलिक स्थितियों में आते बदलाव की पहचान करने में मददगार होगा
लॉन्च के बाद इसरो चीफ के. सिवन ने कहा, 'मैं बहुत खुश हूं कि PSLV-C47 को 13 दूसरे सैटलाइट्स के साथ ऑर्बिट में स्थित कर दिया गया। कार्टोसैट-3 सबसे ज्यादा रेजॉलूशन वाला नागरिक सैटलाइट है। हमारे पास मार्च तक के लिए 13 मिशन हैं जिनमें से 6 लार्ज वीइकल मिशन हैं और 7 सैटलाइट मिशन हैं।'
Previous
Next Post »