WEF Full Form;What is WEF? World Economic Forum

WEF Full Form

  • WEF Full Form in english - World Economic Forum
  • WEF Full Form in हिंदी - विश्व आर्थिक मंच(WEF)
  • विश्व आर्थिक मंच(WEF) की स्थापना - 1971 में
  • विश्व आर्थिक मंच(WEF) का मुख्यालय - जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में

What is WEF ?World Economic Forum

  • विश्व आर्थिक मंच(WEF) की स्थापना 1971 में यूरोपियन प्रबंधन के नाम से जिनेवा विश्वविद्यालय में कार्यरत प्रोफेसर क्लॉस एम. श्वाब ने की थी।
  • यह सार्वजनिक-निजी सहयोग हेतु एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है
  • जिसका उह्देश्य विश्व के प्रमुख व्यावसायिक, अंतर्राष्ट्री राजनीति, शिक्षाविदों, बुद्धिजीवियों तथा अन्य प्रमुख क्षेत्रों के अग्रणी लोगों के लिये एक मंच के रूप में काम करना है।
  • यह स्विट्ज़रलैंड में स्थित एक गैर-लाभकारी संस्था है और इसका मुख्यालय जिनेवा में है।
  • इसके माध्यम से विश्व के समक्ष मौजूद महत्त्वपूर्ण आर्थिक एवं सामाजिक मुद्दों पर परिचर्चा का आयोजन किया जाता है।

WEF Report;Global Gender Gap Index

  • विश्व आर्थिक मंच (WEF) की वर्ष 2020 की जेंडर गैप इंडेक्स में भारत को 112वां स्थान प्राप्त हुआ है भारत लिंग असामनता के मामले में साल 2018 के मुकाबले चार रैंक पिछड़ गया है क्योंकि पिछले वर्ष भारत 108वें स्थान पर था।
  • विश्व आर्थिक मंच(WEF) की स्त्री - पुरुष अंतर रिपोर्ट में भारत का स्थान चीन (106), श्रीलंका (102), नेपाल (101), ब्राजील(92), इंडोनेशिया (85) और बांग्लादेश (50) से भी नीचे है ।
  • स्त्री - पुरुष के बीच सबसे ज्यादा समानता आइसलैंड में है वहीं, नार्वे दूसरे और फिनलैंड तीसरे नंबर पर है।

World Economic Forum

  • विश्व आर्थिक मंच(WEF) की इस रिपोर्ट के मुताबिक स्त्री - पुरुष असमानता को चार मुख्य कारकों के आधार पर तय किया गया है इनमें महिलाओं को उपलब्ध आर्थिक अवसर, राजनीतिक, शैक्षणिक उपलब्धियां तथा सशक्तिकरण स्वास्थ्य एवं जीवन प्रत्याशा शामिल है।
  • स्त्री - पुरुष के बीच अंतर सूचकांक में यमन की स्थिति सबसे खराब है उसे 153 वां स्थान मिला है जबकि इराक को 152 वें और पाकिस्तान को 151 वें पायदान पर रखा गया है।
  • चार मुख्य कारक -
  1. आर्थिक अवसर,
  2. राजनीतिक,
  3. शैक्षणिक उपलब्धियां तथा सशक्तिकरण स्वास्थ्य
  4. जीवन प्रत्याशा

hq of world economic forum

  1. डब्ल्यूईएफ ने कहा, "पहले यह माना जा रहा था कि लिंग असमानता को खत्म होने में 108 साल लग जाएंगे। लेकिन जिस तरह विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है, अब कहा जा रहा है कि भेदभाव खत्म होने में 99.5 साल लगेंगे। हालांकि देश में शिक्षा, स्वास्थ्य, काम और राजनीति के क्षेत्र में महिलाओं और पुरुषों में अभी भी असमानता है। हालांकि, 2018 में स्थिति थोड़ी बेहतर हुई थी।"

WEF व भारत

  • राजनीतिक सशक्तिकरण में भारत की रैंकिंग सुधरी है जबकि स्वास्थ्य एवं उत्तरजीविता में वह फिसलकर 150 वें स्थान, आर्थिक भागीदारी एवं अवसर के मामले में 149 वें पायदान और शैक्षणिक उपलब्धियों के मामले में 112 वें पायदान पर आ गया है।
  • मंच ने कहा कि भारत (35.4 प्रतिशत), पाकिस्तान (32.7 प्रतिशत), यमन (27.3 प्रतिशत), सीरिया (24.9 प्रतिशत) और इराक (22.7 प्रतिशत) में महिलाओं के लिए आर्थिक अवसर बेहद सीमित हैं। उसने कहा कि भारत उन देशों में है, जहां कंपनी के निदेशक मंडल में महिलाओं का प्रतिनिधित्व (13.8) बहुत कम है।

WEF and global gender gap index 2020 

  • विश्व बैंक ने अपनी पहली स्त्री - पुरुष अंतर रिपोर्ट 2006 में पेश की थी उस समय भारत 98 वे पायदान पर था आज भारत की रैंकिंग उससे भी कम है । तब से लेकर , रैंकिंग के लिए उपयोग होने वाले चार में से तीन कारकों में भारत की स्थिति खराब हुई है।
  • मंच ने कहा कि भारत ने अपनी समग्र असमानता को दो - तिहाई तक किया है लेकिन भारतीय समाज के एक बड़े छोर में महिलाओं की स्थिति अनिश्चित है और आर्थिक असमानता विशेष रूप से गहरी होती जा रही है। साल 2006 के बाद से स्थिति खराब हुई है। और भारत सूची में शामिल 153 देशों मेंएकमात्र ऐसा देश है जहां , स्त्री - पुरुष के बीच आर्थिक असमानता राजनीतिक असमानता से भी बड़ी है।
Previous
Next Post »