DHARA 144 Kya Hai ? CRPC - धारा 144

DHARA 144 Kya Hai ? 

  • सीआरपीसी की धारा 144, शांति कायम करने के लिए उस स्थिति में लगाई जाती है जब किसी तरह के सुरक्षा संबंधित खतरे या दंगे की आशंका हो
  • धारा-144 जहाँ लगती है, उस इलाके में पाँच या उससे ज्यादा आदमी एक साथ जमा नहीं हो सकते हैं। धारा लागू करने के लिए इलाके के जिलाधिकारी द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी किया जाता है।
  • धारा 144 आपराधिक दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत एक कानून है जो औपनिवेशिक काल से बना हुआ है। धारा 144 ज़िला मजिस्ट्रेट, उप-विभागीय मजिस्ट्रेट या राज्य सरकार द्वारा किसी कार्यकारी मजिस्ट्रेट को हिंसा या उपद्रव की आशंका और उसे रोकने से संबंधित प्रावधान लागू करने का अधिकार देता है।
  • मजिस्ट्रेट को एक लिखित आदेश पारित करना होता है, जिसके माध्यम से किसी व्यक्ति विशेष या स्थान विशेष या क्षेत्र में रहने वाले व्यक्तियों या आमतौर पर किसी विशेष स्थान या क्षेत्र में आने-जाने के संबंध में लोगों को निर्देशित किया जा सकता है। आपातकालीन मामलों में मजिस्ट्रेट बिना किसी पूर्व सूचना के भी इन आदेशों को पारित कर सकता है।

Dhara 144 in hindi

  • धारा 144 लागू होने के बाद इंटरनेट सेवाओं को भी आम पहुँच से ठप किया जा सकता है। यह धारा लागू होने के बाद उस इलाके में हथियारों को ले जाने पर भी पाबंदी होती है।
  • धारा-144 को 2 महीने से ज्यादा समय तक नहीं लगाया जा सकता है।
  • अगर राज्य सरकार को लगता है कि इंसानी जीवन का खतरा टालने या फिर किसी दंगे को टालने के लिए इसकी जरूरत है तो इसकी अवधि को बढ़ाया जा सकता है
  • लेकिन इस स्थिति में भी धारा-144 लगने की शुरुआती तारीख से छह महीने से ज्यादा समय तक इसे नहीं लगाया जा सकता है।

Dhara 144 - Curfew में अंतर 

  • गैर कानूनी तरीके से जमा होने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ दंगे में शामिल होने के लिए मामला दर्ज किया जा सकता है। इसके लिए अधिकतम तीन साल कैद की सजा हो सकती है।
  • ध्यान रहे कि धारा 144 को कर्फ़्यू के समान नहीं माना जा सकता।
  • करर्फ्यू बहुत ही खराब हालत में लगाया जाता है। उस स्थिति में लोगों को एक खास समय या अवधि तक अपने घरों के अंदर रहने का निर्देश दिया जाता है।
  • मार्केट, स्कूल, कॉलेज आदि को बंद करने का आदेश दिया जाता है। सिर्फ आवश्यक सेवाओं को ही चालू रखने की अनुमति दी जाती है। इस दौरान ट्रैफिक पर भी पूरी तरह से पाबंदी रहती है।

what is dhara 144 ?

  • राजधानी दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर कुछ स्थानों पर धारा 144 लगाई गई है तो वहीं कुछ मेट्रो स्टेशनों को इसके चलते बंद रखा गया है। जामिया, जसोला विहार शाहीन बाग, मुनरीका स्टेशन, वसंत विहार और मंडी हाउस पर एंट्री-एग्जिट बंद कर दिया गया है।
  • नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध प्रदर्शन के बीच कर्नाटक में तीन दिनों तक के लिए धारा 144 लगा दी गई है। गौरतलब है कि बेंगलुरु में बड़े विरोध-प्रदर्शन की तैयारी की गई थी। प्रदर्शनों के मद्देनज़र उत्तर प्रदेश पुलिस ने भी राज्य में धारा 144 लगा दी है।
Previous
Next Post »